छत्तीसगढ़ करेंट अफेयर्स

छत्तीसगढ़ करेंट अफेयर्स

राम वनगमन परिपथ परियोजना क्या हैं ?

रामायण के अनुसार प्रभु श्रीराम जब अयोध्या से अपने 14 वर्ष के वनवास के लिए गए थे उस समय जिस मार्ग से अपना सफ़र किया था उस मार्ग में छत्तीसगढ़ के काफी हिस्से शामिल हैं जिसे वर्तमान मुख्यमंत्री ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत “राम वनगमन परिपथ परियोजना” का नाम दिया हैं, इसके लिए बहुत सारे जगहों का चयन किया गया है जिसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा.

राम वनगमन परिपथ परियोजना

राम वनगमन परिपथ परियोजना

राम वनगमन पथ प्रोजेक्ट के प्रारंभ में 9 स्थल को विकसित करने के लिए चयन किया गया हैं जिसमे सीतामढ़ी-हरचौका, रामगढ़, शिवरीनारायण, तुरतुरिया, चंदखुरी, राजिम, सिहावा, जगदलपुर व् रामराम हैं

चंदखुरी हैं विशेष लेकिन क्यों ?

राम वनगमन पथ प्रोजेक्ट के 9 स्थानों में चंदखुरी का उद्घाटन सबसे पहले होने जा रहा हैं जिसकी तारीख 07/10/2021 निर्धारित किया गया हैं इस स्थल को विकसित करने के लिए चयन सर्वप्रथम इसलिए चयन किया गया क्योकि यहाँ माता कौशल्या का मंदिर हैं जिसे “माता कौशल्या का मायका” भी कहा जाता हैं अर्थात चंदखुरी प्रभु श्रीराम को “चंदखुरी का भांजा” या “छत्तीसगढ़ का भांजा” कहा जाता हैं.

चंदखुरी को विश्व पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा हैं.

गोबर से बिजली वाले गाँव

छत्तीसगढ़ गोबर से बिजली बनाने वाला प्रथम राज्य बन गया है सर्वप्रथम सुरुवात बेमेतरा जिला की ग्राम राखी में हुई साथ ही साथ दुर्ग के सिकोला, एवं रायपुर के बनचरौदा गोठान में गोबर से बिजली का सुभारम्भ हुआ.

इस योजना के तहत हर गोठान मे 150 किलोवाट बिजली की पैदावार होने की योजना

अनेक योजनाये

छत्तीसगढ़ में चलने वाली घटना चक्र के लिए हमारा टेलीग्राम चैनल ज्वाइन करें

ज्वाइन टेलीग्राम

Leave a Comment